• Tue. Sep 27th, 2022

राज्यपाल भले आदमी लेकिन वे अंडर प्रेशर में काम कर रहे हैं-महेश जोशी

ByRameshwar Lal

Jun 5, 2021

जयपुर प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र की ओर से प्रदेश में वैक्सीन की बर्बादी के संबंध में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस मामले की जांच करने के आदेश दिए जाने के मामले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि राज्यपाल भले आदमी हैं लेकिन वह अंडर प्रेशर में काम कर रहे हैं, जोशी ने कहा कि केंद्र सरकार का राज्यों पर दबाव बनाए रखने का यह अपना तरीका है केंद्र कि मोदी सरकार शुरू से ही राज्यों पर बेवजह अनर्गल दबाव बनाने की अपनी नीति के तहत अपना काम कर रही है इसलिए प्रदेश के राज्यपाल ने भी मजबूरन वैक्सीन की खराबी के संबंध में प्रदेश सरकार को आदेश जारी किए लेकिन यह भी सोचने की बात है किराज्यपाल ने फ्री वैक्सीनेशन के लिए मांग क्यों नहीं की, राज्यपाल को राजस्थान सहित पूरे देश में फ्री वैक्सीनेशन के लिए केंद्र सरकार को अपनी बात कहनी चाहिए थी लेकिन राज्यपाल महोदय ने फ्री वैक्सीनेशन के लिए कुछ भी नहीं कहा जोशी ने कहा कि राज्यपाल ने इसी तरह का व्यवहार विधानसभा सत्र आहूत करने के संबंध में भी किया था जोशी ने कहा कि वैक्सिंग बर्बादी के संबंध में की जा रही जांच में स्वता ही सामने आ जाएगा कि केंद्र सरकार ने वैक्सीन खराबी की जो अनुमति दी थी उससे बहुत ही कम मात्रा में राजस्थान में वैक्सीन खराब हुई है जोशी ने कहा कि यह सच्चाई है देश के अन्य राज्यों की तुलना में राजस्थान में बहुत ही कम मात्रा में वैक्सीन खराब हुई है उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने 10 प्रतिशत वैक्सीन खराबे की अनुमति राज्यों को दी थी लेकिन राजस्थान में जो वैक्सीन खराब हुई है वह दो प्रतिशत ही खराब हुई है जो बहुत ही कम संख्या है इसके बावजूद भी भारतीय जनता पार्टी के नेता प्रदेश सरकार को वैक्सीन खराबे को लेकर बदनाम कर रहे हैं वह बिल्कुल गलत है जोशी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता और अनाकाल की इस अवधि में भी अपनी राजनीति को चमकाने का प्रयास कर रहे हैं जिसे प्रदेश और देश की जनता देख रही है प्रदेश की जनता और देश की जनता ने यह भी देखा है कि कठिन और विपरीत हालातों के बीच भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में जो कोरोना का प्रबंधन किया है उसे पूरे विश्व और देश में सराहा है जोशी ने जोर देकर कहा कि केंद्र सरकार वैक्सीन के लिए एक समान नीति नहीं बना पाई उसी का नतीजा है कि आज देश में वैक्सीन की कमी चल रही है और राज्य वैक्सीन की कमी से बुरी तरह से जूझ रहे हैं जिसकी वजह से राजस्थान और अन्य राज्यों में वैक्सीनेशन का काम बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है जोशी ने पुरजोर तरीके से मांग की है कि देश में फ्री वैक्सीनेशन के लिए केंद्र सरकार जल्दी से जल्दी अपनी कटिबद्ध दिखाएं क्योंकि केंद्र सरकार ने अपने चालू वित्त वर्ष के बजट में 35,000 करोड रुपए वैक्सीनेशन के लिए ही सुरक्षित रखे थे इसलिए केंद्र सरकार को अपनी जिम्मेवारी से पीछे नहीं भागना चाहिए और देश में फ्री वैक्सीनेशन की व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.