• Fri. Oct 7th, 2022

अन्तर्राज्यीय साईबर क्राइम के 12 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार 27 मोबाइल बरामद, अब तक की एक करोड़ की ठगी, अनुसंधान जारी

ByRameshwar Lal

Jul 14, 2021


जयपुर टाइम्स
अलवर(निसं.)। पुलिस ने अन्तर्राज्यीय साईबर क्राइम के 12 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 27 मोबाइल बरामद किए हैं ओर पूछताछ में अब तक एक करोड रुपए की ठगी सामने आई है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों में 3 नाबालिग निरूद्ध किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक अलवर तेजस्वनी गौतम ने बताया कि हवासिंह घूमरिया महानिरीक्षक पुलिस जयपुर रेंज, जयपुर के द्वारा साईबर क्राइम व ऑनलाइन ठगी के आरोपियों को गिरफ्तार करने हेतु दिये गये निर्देशानुसार उन्होंने एएसपी मुख्यालय अलवर सरिता सिंह के निर्देशन में विकास सांगवान आईपीएस सहायक पुलिस अधीक्षक वृत उत्तर (शहर) अलवर के नेतृत्व में हरिसिंह धायल पु.नि. थानाधिकारी पुलिस थाना शिवाजी पार्क व डीएसटी अलवर की विशेष टीम का गठन किया गया। एसपी ने बताया कि 13 जुलाई को थानाधिकारी हरिसिंह धायल पु.नि. मय जाप्ता गस्त व चौकिंग बदमाशान तलाश करता हुआ क्रॉस मॉल पांइन्ट पहुंचा जहां जरिये मुखबिर खास सूचना मिली की सीएलसी ग्राउण्ड के पीछे शिव मन्दिर के पास पेड़ो के नीचे करीब 15-20 व्यक्ति बैठे हुए हैं, जो मोबाईल पर लोगो से व्हाट्सअप विडियो चैट व लोगो को वाहन की फोटो व आर्मी मैन की फोटो दिखाकर कर ओएलएक्स की ठगी करते हैं। इस इतला पर विशेष टीम का गठन कर, टीम को अवगत कराकर थानाधिकारी थाना शिवाजीपार्क मय टीम के क्रॉस मॉल पांइन्ट से रवाना होकर सीएलसी ग्राउण्ड के पीछे शिव मन्दिर के पास पहुँचे। जहां बड के पेड़ व नीम के पेड़ के नीचे 15 व्यक्ति बैठे दिखाई दिये। जिनको टीम की मदद से घेरा देकर ज्यों का त्यों बैठा रहने की हिदायत कर थानाधिकारी मय टीम की मदद से पकड़ लिया। पुलिस ने बताया कि उनसे नाम पता पूछा तो मौसम खाँ निवासी नांगल टप्पा थाना बडौदामेव जिला अलवर, जावेद खाँ निवासी नांगल टप्पा थाना बडौदामेव जिला अलवर, महबूब खाँ, शाँहजहाँ खाँ, वसीम अकरम, अयूप खाँ, साजिद, मुफीद, मुस्ताक, भँवर सिंह यादव, जुबेर मेव निवासी सेदमपुर पुलिस थाना गोविन्दगढ़ जिला अलवर, निजाम मेव होना बताया तथा 3 विधि से संघर्षरत बालक जिनसे कोरोना गाईडलाईन के दौरान लॉक डाउन में अलवर में आने का कारण पूछा तो कोई सन्तोषजनक जबाब नहीं दिया। जिनसे तसल्ली से पूछने पर उन्होंने बताया किवे ऑन लाइन सैक्स चैट करके व ओएलएक्स पर वाहनो को बेचने का एड (विज्ञापन) डालकर लोगो से धोखाधडी करते है। मंगलवार को भी कोई ओएलएक्स की पार्टी दिल्ली से बुलेट मोटरसाईकिल व अन्य सामान खरीदने आने वाली थी। इसलिये हम अलवर आये हैं। इस पर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया।
तरीका वारदात
एसपी अलवर ने बताया कि टीम द्वारा तलाशी शुरू की गई तो उक्त व्यक्तियो के मोबाईल मे व्हाट्सअप एप व बिजनैस अकाउन्ट व अन्य फोन-पे, गुगल-पे, पेटीएम व फेसबुक अकाउन्ट विभिन्न नामो से बने हुये है। जिन पर देवी देवताओ व महिलाओ की डीपी (फोटो) लगी हुई है। व्हाट्सअप अकाउन्ट की चैट को चैक किया तो किसी लडकी द्वारा न्यूड होकर गन्दी हरकत करते हुए का विडियो चलाकर अगली पार्टी को गन्दी हरकत करने के लिए उकसाकर उसकी स्क्रीन की रिकार्डर एप की सहाता से स्क्रीन रिकार्डिंग कर ली जाती है। जिससे स बन्धित पार्टी को स्क्रीन रिकॉर्डिंग विडियो भेजकर सोशल मिडिया पर अपलोड करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करते है एवं रूपये ठगते है। ओएलएक्स व अन्य सोशल साइट्स के द्वारा वाहनो के विज्ञापन व फ ोटो दिखाकर सेना के जवान बनकर फर्जकारी कर एवं जॉब दिलाने के नाम पर रूपये ऐंठते हैं। पुलिस ने आरोपियों से जहां विभिन्न क पनियों के 27 मोबाईल बरामद किए हैं। वहीं अन्य मामलों में पूछताछ की जा रही है।
इन्होंने किया आरोपियों को गिरफ्तार
आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली स्पेशल टीम में विकास सांगवान आईपीएस सहायक पुलिस अधीक्षक वृत उत्तर शहर अलवर, हरिसिंह धायल पु.नि. थानाधिकारी थाना शिवाजी पार्क अलवर, शिवाजीपार्क थाने के सउनि भोलाराम, कासम खान स.उ.नि. प्रभारी डीएसटी अलवर, जान मोह मद खान एचसी, जगवीर एचसी, साधुराम एचसी, कांस्टेबल इमरान खान, दिलीप, हरिओम, बृजेश, देवकीनन्दन, लोकेश कुमार, अमित, संदीप, मानवेन्द्र, रामवीर, रामसिंह, पुस्कीन, मूलचन्द, मुकेश कुमार, दीनमोह मद, समुन्द्र , कान्हाराम, कृष्ण कुमार व जितेन्द्र सउनि मय क्युआरटी टीम अलवर शामिल रहे। जिनके द्वारा आरोपियों को पकड़ा जा सका।