• Mon. Aug 8th, 2022

आपसी रंजिश को लेकर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने कि साजिश, दो गिरफ्तार

ByRameshwar Lal

Jul 8, 2022

जहाजपुर/ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के मामले को लेकर आज अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंचल मिश्रा ने खुलासा किया जिसने बताया गया कि इस मामले में अभी दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और मामले का अनुसंधान जारी है। पुलिस द्वारा दिए गए प्रेस नोट में बताया गया कि सोशल मिडिया इंस्टाग्राम पर विशाल खटीक नाम के व्यक्ति द्वारा धार्मिक भावनाओं को आहत करने व हिंदु – मुस्लिम दंगा कराने की नियत से इंस्टाग्राम पर अश्लील गाली – गलौच लिखकर स्टेट्स शेयर किया था। रिपोर्ट पर प्रकरण संख्या 182 / 2022 दर्ज कर अनुसंधान राजकुमार पु ० नि ० थानाधिकारी द्वारा शुरू किया गया तत्पश्चात दिनांक 6 जुलाई को विशाल खटीक द्वारा इस मामले की रिपोर्ट पेश की कि कुछ लोगो द्वारा सांम्प्रदायिक सद्भाव बिगाडने व मुझे झूठे मुकदमे में फंसाने के उद्देश्य से थाना जहाजपुर में एक झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। आदि पर प्रकरण सं 210/2022 दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।
मामला गंभीर प्रकृति का होने से प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए उच्चाधिकारियो द्वारा घटनाक्रम का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस अधीक्षक आर्दश सिद्धू व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंचल मिश्रा के निर्देशन व पुलिस उपाधीक्षक महावीर प्रसाद शर्मा वृताधिकारी वृत जहाजपुर के निकटतम सुपरविजन में निम्न टीम का गठन किया गया। राजकुमार पु ० नि ० थानाधिकारी, भागचंद सउनि, धर्मेन्द्र सिह, कानि राकेश चौधरी, कानि जगदीश थानाधिकारी राजकुमार पु ० नि ० के नेतृत्व में गठित टीम के सदस्यों के द्वारा घटना के तथ्यों का बारीकी से निरीक्षण किया गया। तकनीकी साधनों के माध्यम से स्कीनशॉट की सत्यता की जांच की गई तो स्क्रीनशॉट फर्जी पाया गया। जिस पर गहनता से अनुसंधान किया जाकर उक्त स्क्रीनशॉट को बनाने वाले व्यक्तियों के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई। जिस पर आरोपी तोफिक उर्फ गुड्डु उर्फ लाला व दानिश मोहम्मद को डिटेन कर गहनता से पुछताछ की गई तो आरोपीगण द्वारा उक्त स्क्रीनशॉट को editing कर बनाना व instagram पर अपलोड कर धार्मिक भावनाए भडकाने के षडयंत्र रचने का खुलासा किया गया अनुसंधान के दौरान ज्ञातव्य तथ्यो एवं मुल्जिमान की पुछताछ से खुलासा हुआ कि विशाल खटीक व आरोपी तोफिक उर्फ गुड्डु उर्फ लाला के बीच आपसी रंजिश थी । इसी कारण आरोपीगण विशाल खटीक को कानुनी दाव पेंच में फंसाकर सबक सिखाना चाहते थे । इस पर आरोपी तोफिक उर्फ गुडडु उर्फ लाला ने अपने दोस्त दानिश से सम्पर्क किया। उक्त दानिश इलेक्ट्रानिक उपकरणो के उपयोग का अनुभव रखने वाला व्यक्ति है| दोनों ने मिलकर विशाल खटीक की इंस्टाग्राम आईडी का स्क्रीनशॉट लेकर उसको एडिट कर समाज विशेष के आस्था के प्रतीक के संबंध में गाली – गलौच लिखकर उक्त स्कीनशॉट को समाज के व्यक्तियों को गुमराह कर थाना जहाजपुर पर धार्मिक भावनाए भडकाने के संबंध में प्रकरण दर्ज कराया। उक्त व्यक्तियो का उद्देश्य विभिन्न वर्गों के बीच कटुता उत्पन्न करना व सामाजिक समरसता को नुकसान पहुंचाना था। तोफिक उर्फ गुडडु उर्फ लाला पिता अब्दुल मजीद पठान उम्र 24 साल निवासी गोलहथाई मौहल्ला , चमन चौराहा, दानिश पिता जहांगीर उर्फ गुड्डु पठान उम्र 19 साल निवासी देशवाली नोहरे के पास जहाजपुर। विशाल खटीक द्वारा थाने में दी गई रिपोर्ट में बताया गया कि साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के उद्देश्य से मुस्लिम समाज के युवकों द्वारा फर्जी तरीके से एडिटिंग कर स्पेशल साइड पर मेरे नाम से की गई टिप्पणी एवं मुझे जान से मारने की धमकी देने वालो सहित पुरे पडयंत्र में शामिल लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करने साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडने के उदेश्य से दिनांक 20 जून को मुस्लिम समाज के युवक साहिल द्वारा फर्जी तरके से एडिटिंग कर सोशल साइड पर मेरे नाम से समुदाय विशेष पर टिप्पणी की जाकर उसे वायरल कर दिया, और थाने में मेरे खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज करवाकर मुझे गलत तरीके से फसाया गया। इस समुचे प्रकरण को योजनाबद्ध तरीके से अन्जाम दिया गया। मुस्लिम समुदाय के व्यक्तियों द्वारा इस पूरे घटना कम को 15 दिवस पूर्व योजना बनाकर मेरे खिलाफ साजिल रची गयी। इसी के तहत विवादित पोस्ट बनाने से लेकर वायरल करने में प्रमुख रूप से साहिल, हसनेन सरवाडी, अमान सरवाडी, लाला, बिट्टू, सलमान पठान, मुजम्मिल शेर पठान, आदिल ढंका ( गुड्डू मोबाइल ), बन्टी पार्षद, काकू इत्यादी लोग शामिल रहे। इसके अतिरिक्त उक्त प्रकरण में षडयंत्र रचने मे सत्तार गौड, सेठिया, फारूक ( एडवाकेट ), रफिक के जी एन सहित अन्य लोग सम्मिलित है। पुलिस हिरासत में ज्ञापन के दौरान मुस्लिम युवको द्वारा मुझे टुकड़े – टुकड़े व गर्दन काटने की धमकी भी पुलिस थाना परिसर में दी गई। इसके अतिरिक्त मुझे सोशल मिडिया व फोन करके भी वाजिद कादरी एवं अन्य लोगो द्वारा जान से मारने कि धमकिया निरन्तर दी गई। जिसका सम्पूर्ण ब्यौरा मेरे फोन में सुरक्षित है, जो कि थाना अधिकारी जहाजपुर द्वारा जाँच हेतु जप्त कर लिया गया है। साथ ही मुझे सन्देह है कि साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से मेरे फोन को भी नष्ट करने अथवा हानी पहुचाने कि सम्भावना है।इस मामले को लेकर विशाल खटीक द्वारा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया विधानसभा जयपुर, प्रमुख शासन सचिव राजस्थान सरकार जयपुर, पुलिस महानिदेशक (राज.पुलिस), महानिदेशक ( इन्टेलीजेन्स ) राजस्थान को भी पत्र लिखा गया।

error: Content is protected !!