• Tue. Sep 27th, 2022

पुलिस मित्र वार्ड 28 के 45 वर्षीय कमलजीत के अकस्मात निधन पर बेटी को 1 लाख रुपये देकर पुलिसकर्मियों ने दी सच्ची श्रद्धांजलि

ByRameshwar Lal

Sep 22, 2022

सरदारशहर। पुलिस थाने में कार्यरत पुलिस कर्मियों के मित्र कमलजीत नाई के 12 सितंबर को अकस्मात निधन के बाद गुरुवार को थानाधिकारी सतपाल विश्नोई और बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी कमलजीत नाई के घर पहुंचे और कमलजीत नाई की बेटी निशा नाई को 1 लाख 5 हजार 600 रुपये सौंपकर सच्ची श्रद्धांजलि दी। आपको बता दें कि अपराधों में कमी लाने के लिए पुलिस नई नई योजनाओं के तहत आमजन के साथ अच्छे संबंध स्थापित करती है। पुलिस की पुलिस मित्र योजना के तहत भी पुलिस मित्र बनाए जाते हैं। लेकिन सरदारशहर पुलिस थाने के 1 ऐसे मित्र जो किसी योजना के तहत नहीं बनाए गए। बल्कि पुलिस के सच्चे मित्र थे। सरदारशहर के वार्ड 28 निवासी 45 वर्षीय कमलजीत नाई जो पिछले 20 वर्षों से पुलिस थाने में कार्यरत पुलिसकर्मियों के एक सच्चे मित्र की तरह हर कार्य में तैयार रहते थे। कमलजीत वैसे तो इलेक्ट्रीशियन का कार्य करते थे। जिसके चलते पुलिस कर्मियों की उनसे जानकारी हुई और उसके बाद जब भी किसी पुलिसकर्मी को इलेक्ट्रिक कार्य के चलते किसी की जरूरत होती तो वह तुरंत कमलजीत को याद करते और वह तुरंत जाकर उनका कार्य भी करते। थानाधिकारी सतपाल विश्नोई ने बताया कि पुलिस थाने में काफी बार विद्युत समस्या से संबंधित जब भी परेशानी आती तो तुरंत कमलजीत को याद करते और रात्रि के समय में भी कमल जीत तुरंत पुलिस थाने पहुंचकर उनकी समस्या को दूर करते और पुलिस कर्मियों को किसी अन्य निजी कार्य के लिए भी कभी मना नहीं करते। 12 सितंबर को कमलजीत अपने घर पर बाथरूम से निकल रहे थे इसी दौरान उनका पैर फिसल गया और लोहे के गेट से सर टकरा गया। जिससे उनके सर में गंभीर चोट आई। जिनको तुरंत राजकीय अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने तुरंत उन्हें मृत घोषित कर दिया। कमलजीत नाई के निधन की सूचना जैसे ही पुलिस थाने में लगी तो हर कोई इस घटना से स्तब्ध रह गया और कमलजीत नाई के निधन पर शोक प्रकट किया। गुरुवार को थानाधिकारी सतपाल विश्नोई सहित बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी कमलजीत नाई के घर पहुंचे और उनके परिजनों को ढाढस बंधाया। आपको बता दें कि पुलिस मित्र कमलजीत नाई तीन भाइयों में सबसे बड़े थे। कमलजीत के 1 छोटे भाई की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। कमलजीत के दो पुत्रियां हैं। जिनका रो रो कर बुरा हाल है। पुलिस कर्मियों को भी पुलिस मित्र कमलजीत नाई के अचानक छोड़कर चले जाने से काफी आघात लगा है। इस अवसर पर थाना अधिकारी सतपाल विश्नोई, एसआई रामप्रताप गोदारा, एएसआई जयसिंह, हिम्मतसिंह, राजेंद्र कुमार, रामनिवास मीणा, हेड कॉन्स्टेबल विजेंद्रसिंह, ओमप्रकाश, श्यामसिंह, गणपतराम, शिवजी राणा, सुरेंद्र कुमार स्वामी, महिपाल, कॉन्स्टेबल नरेंद्र दहिया, रामचंद्र सिहाग, कॉन्स्टेबल कृष्ण कुमार, अनिल सैनी, रामचंद्र बुडानिया, सत्यप्रकाश, नंदलाल डूडी, महेंद्र शर्मा, जितेंद्र शर्मा, ताराचंद, दीवानसिंह, राकेश कुमार सहित तमाम पुलिसकर्मियों ने पुलिस मित्र कमलजीत नाई के निधन पर शोक प्रकट किया। कमलजीत नाई पुलिस थाने के साथ-साथ न्यायालय परिसर और अर्जुन क्लब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और ताल मैदान स्थित राजकीय अस्पताल में भी एक मित्र की तरह सहयोग करते थे। कमलजीत नाई के अकस्मात निधन पर हर कोई दुःख प्रकट कर रहा है।