• Fri. Oct 7th, 2022

महंगाई के खिलाफ 10 दिन सड़क पर उतरेगी कांग्रेस: कार्यकर्ता 9 दिन पेट्रोल पंपों पर पूछेंगे मोदी राज में महंगाई से आप कितने परेशान, 16 जुलाई को हर जिले में 5 किलोमीटर की महंगाई विरोधी साइकिल यात्रा

ByRameshwar Lal

Jun 30, 2021

पेट्रोल डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों और महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने 10 दिन का आंदोलन चलाने का फैसला किया है। 7 जुलाई से 17 जुलाई तक कांग्रेस ने सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने और बढ़ती महंगाई पर केंद्र के खिलाफ अभियान चलाने की घोषणा की है। कांग्रेस कार्यकर्ता 8 जुलाई से प्रदेश भर के पेट्रोल पंपों पर खड़े होकर लोगों से पूछेंगे कि वे मोदी राज में महंगाई से कितने परेशान हैं,पेट्रोल डीजल की कीमतें क्या कम होनी चाहिए? कांग्रेस कार्यकर्ता पेट्रोल डीजल की कीमतें कम करने के लिए केंद्र को भेजे जाने वाले मांग पत्र पर लोगों से हस्ताक्षर करवाएंगें। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, 7 जुलाई से 17 जुलाई तक महंगाई को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। 7 जुलाई को महिला कांग्रेस के जिला और ब्लॉक स्तर पर धरना प्रदर्शन होंगे। 8 जुलाई से 15 जुलाई तक प्रदेश के सभी पेट्रोल पम्पों पर पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने की मांग को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत पेट्रोल पम्प पर आने वाले सभी लोगों से केंद्र सरकार को दिए जाने वाले मांग पत्र पर हस्ताक्षर लिए जाएंगे।

16 जुलाई को हर जिले में साइकिल यात्रा, 17 को जयपुर में राज्य स्तरीय मार्च

कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ 10 दिन के अभियान में अलग अलग कार्यक्रम तय किए हैं। 16 जुलाई को प्रदेश के हर जिले में बढ़ती मंहगाई और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी करने की मांग को लेकर 5 किलोमीटर की साईकिल यात्रा निकाली जाएगी। साइकिल यात्रा में कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता, सांसद, विधायक सहित निवर्तमान जिलाध्यक्ष, निवर्तमान ब्लॉक अध्यक्ष और प्रमुख कार्यकर्ता शामिल होंगे। 17 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस जयपुर में राज्य स्तरीय मार्च निकालेगी।

जिला-ब्लॉकों में संगठन पदाधिकारियों के बिना बड़े अभियान की घोषणा
कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ 10 दिन के बड़े अभियान की घोषणा तो कर दी लेकिन अभी तक जिला और ब्लॉक स्तर पर न अध्यक्ष हैं और न पदाधिकारी। बिना ग्रासरूट संगठन के इतने बड़े अभियान की घोषणा को पूरा करने की जिम्मेदारी निवर्तमान पदाधिकारियों को दी गई है। इससे पहले कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ 11 जून को भी पेट्रोल पंपों पर प्रदर्शन किया था, लेकिन उससे वह प्रभाव नहीं पड़ा जो इतने बड़े मुद्दे का होता है। इस बार भी 10 दिन लंबा अभियान बिना ग्रासरूट के पदाधिकारियों के हाथ में लिया गया है। हांलाकि कांग्रेस पिछले साल भर से कई प्रदर्शन कर चुकी है जिनमें निवर्तमान पदाधिकारी ही भीड़ जुटाने से लेकर सारे इंतजाम करते आए हैं।