• Tue. Sep 27th, 2022

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी संचार क्रांति के सूत्राधार – मंत्री जूली

ByRameshwar Lal

Aug 20, 2022

अलवर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि संचार क्रांति के सूत्राधार पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने युवाओं को केन्द्र बिन्दु रखकर राष्ट्र के विकास में अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाये थे।
मंत्री जूली मोती डूंगरी स्थित राजीव गांधी पार्क में भारत रत्न स्व. राजीव गांधी की 78वीं जयन्ती सद्भावना दिवस के अवसर पर राजीव गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी को नमन करते हुए कहा कि उनके बलिदान और राष्ट्र निर्माण में उनकी दूरदृष्टिता को देश भूला नहीं पायेगा। उन्होंने कहा कि स्व. राजीव गांधी ने सकारात्मक सोच रखते हुए संचार क्रांति, पंचायतीराज को सुदृढीकरण किया जिसमें महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण एवं युवाओं को 18 वर्ष की आयु में मताधिकार का अधिकार प्रदान किया।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार स्व. राजीव गांधी के सपनों को साकार करने की दिशा में कई महत्वपूर्ण कदम उठा रही है उन्होंने कहा कि बेरोजगारी भत्ता, बेटियों को निःशुल्क शिक्षा, अंग्रेजी माध्यम स्कूलों सहित युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार निरन्तर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान ग्लोबलाइजेशन के समय में कम्प्यूटर और हाथ में मोबाइल से पूरा विश्व हमारी मुठ्ठी में है। यह संचार क्रांति के महापुरूष राजीव गांधी की देन है। उनकी नीतियों ने देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया है। भारत को 21वीं सदी में ले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया था। उन्होंने आतंकवाद व साम्प्रदायिक ताकतों के विरूद्ध संघर्ष करने का अहम संकल्प लिया था। उनके दूरदर्शी सोच के निर्णय का ही परिणाम है कि आज भारत अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक मजबूत राष्ट्र के रूप में उभरकर सामने आया है। इसके पश्चात मंत्री जूली ने मालाखेडा पंचायत समिति में स्व. राजीव गांधी के श्रृद्धांजलि अपित कर नमन किया। साथ ही वहां पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।
इस दौरान रामगढ विधायक सफिया जुबेर खान, मेवात विकास बोर्ड के अध्यक्ष जुबेर खान, जिला बीसूका उपाध्यक्ष योगेश मिश्रा, उमरैण प्रधान दौलतराम, राजेन्द्र गंडूरा, कमलेश सैनी, रिपुदमन गुप्ता, शीला मीणा, सोनू गोपालिया, प्रीतम मेहन्दीरत्ता, दुलीचंद मीणा, एसआर यादव, जोगेन्द्र कोचर, दशरथ सिंह शेखावत, राजेश विरमाती, जेडी आर्यन सहित प्रबुद्ध व्यक्ति उपस्थित रहे।