• Fri. Oct 7th, 2022

सरकार का हर ब्लॉक में कॉलेज खोलने का लक्ष्य, सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज खुल जाना प्रदेश में बड़ी बात: अशोक गहलोत

ByRameshwar Lal

Jul 15, 2021

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को प्रदेश में विभिन्न कॉलेजों में नए भवनों के उद्घाटन और शिलान्यास कार्यक्रम में अपने वर्चुअल भाषण में जोर देकर कहा कि प्रदेश के सभी 33 जिलों में मेडिकल कॉलेज खुल जाना प्रदेश के लिए सौभाग्य की बात है, उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में काफी अहम काम किए हैं अधिकांश जिलों में मेडिकल कॉलेज में काम भी शुरू हो गया है और सरकार का लक्ष्य है कि हर ब्लॉक में कॉलेज खोला जाए इसके लिए सरकार पूरी तरह से प्रयासरत है गहलोत ने कहा कि कोटा में कोचिंग संस्थान खोलने के विषय पर गंभीरता से मंथन किया जा रहा है उन्होंने कहा कि कोटा में कोचिंग संस्थान खोलने के विषय पर यूडीएच मिनिस्टर शांति धारीवाल ने जो प्रस्ताव उन्हें भेजा है उस पर अध्ययन किया जा रहा है और जल्दी ही प्रस्ताव पर सकारात्मक कार्रवाई भी की जाएगी गहलोत ने कहा कि प्रदेश और देश में कोरोना के मरीज कम जरूर हुए हैं लेकिन कोरोना का खतरा अभी बरकरार है इसलिए कोरोना के प्रति लोगों को अब भी काफी सावधानी बरतनी पड़ेगी और कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक भी रखना होगा, गहलोत ने प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वे कोरोना की गाइड लाइन का पालन करें मुंह पर मास्क लगाएं सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करें और भीड़ भरे इलाके में जाने से बचें क्योंकि कोरोना नए नए रूप में सामने आ रहा है इसलिए कोरोना के प्रति पूर्ण सावधानी बरतें गहलोत ने कहा कि वैक्सिंग भी जरूर लगवाएं और वैक्सीन लगाने के बाद भी मुंह पर मास्क लगाकर रखें उन्होंने कहा कि कोरोना काल में इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म है इसलिए पीडि़त और जरूरतमंद व्यक्ति चाहे किसी भी धर्म और संप्रदाय का हो उसकी तन मन धन से मदद करें गहलोत ने कहां की अत्याधुनिक तकनीकी का जमाना आ गया है इसलिए अंग्रेजी का काफी महत्व बढ़ गया है बच्चों में अंग्रेजी के प्रति रुझान पैदा करना होगा इसी वजह से प्रदेश सरकार प्रदेश में इंग्लिश मीडियम स्कूल खोल रही है उन्होंने कहा कि हिंदी का भी अपना अलग महत्व है लेकिन वर्तमान अत्याधुनिक युग में अंग्रेजी भी जरूरी हो गई है सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि सरकार ने कठिन और विपरीत परिस्थितियों में भी प्रदेश के विकास को तेजी से आगे बढ़ाया है शिक्षा चिकित्सा पानी बिजली जैसे क्षेत्रों में सरकार ने विगत ढाई साल में उल्लेखनीय काम किए हैं सरकारी भर्तियों का काम भी जारी है, कोरोना की वजह से प्रदेश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से बिगड़ गई है केंद्र सरकार जीएसटी के बकाया पैसे का भी भुगतान नहीं कर रही है इसलिए हालात काफी खराब है फिर भी प्रदेश सरकार ने प्रदेश के विकास में कोई कमी बाकी नहीं छोड़ी।