• Tue. Sep 27th, 2022

हेयर केयर: आंवला, ब्राह्मी और ऐलोवेरा जैसी हर्बल चीजों से बालों की देखभाल कैसे कर सकते हैं बता रहे हैं एक्सपर्ट, इससे बाल काले व घने होंगे और उनका झड़ना भी रुकेगा

ByRameshwar Lal

Jun 29, 2021

बालों का झड़ना आम समस्या है। पुरुषों में यह समस्या आनुवांशिक कारणों से हो सकती है, लेकिन महिलाओं में ऐसा नहीं है। महिलाओं में पोषक तत्त्वों की कमी, हार्मोनल समस्या या कोई बीमारी इसकी वजह हो सकती है। आयुर्वेद में बालों के लिए कई कारगर औषधियां हैं, जिनके प्रयोग से बालों को झड़ने से रोक सकते हैं।

आंवला- आंवला छह रसों से युक्त होता है। इसमें विटामिन्स, मिनरल्स और एल्कलॉइड पाया जाता है, जो बालों के लिए पोषण का काम करते हैं। इसके फल का पाउडर एक-एक चम्मच सुबह-शाम पानी से लें। इसके एक्सट्रैक्ट के कैप्सूल भी बाजार में उपलब्ध हैं, जिन्हें सुबह-शाम एक-एक लिया जा सकता है। इसके सेवन से बाल घने व काले होंगे और झड़ना भी रुकेगा।

ब्राह्मी- यह बालों की रक्षा और विकास में मदद करती है। इसकी पत्तियों को सुखाकर पाउडर बना लें। इसे भी एक-एक चम्मच सुबह-शाम लिया जा सकता है। इसके एक्सट्रैक्ट के कैप्सूल भी बाजार में उपलब्ध हैं, जिन्हें सुबह-शाम एक एक लिया जा सकता है। यह तनाव की वजह से झड़ने वाले बालों के लिए बहुत कारगर है। यह बालों की जड़ों को पोषण देने के साथ ही उन्हें मजबूत करती है, जिससे बालों का टूटना रुक जाता है।

एलोवेरा- एलोवेरा के ताजे पल्प में एक एंजाइम होता है, जो मृत कोशिकाओं को हटाकर नई कोशिकाओं को विकसित करता है। इसे सिर की त्वचा पर लगाने से रूसी खत्म होती है। बालों का झड़ना रोकता है और नए बाल आना शुरू हो जाते हैं। इसके ताजा गूदे को मिश्री मिलाकर दो-दो चम्मच खाया भी जा सकता है।

अश्वगंधा- अश्वगंधा में बालों के स्वास्थ्य के लिए टायरोसिन नामक अमीनो एसिड होता है। यह बालों को समय से पहले सफेद होने से रोकता है। बालों में मेलानिन की मात्रा को बढ़ाता है। ये जड़ों को मजबूत करता है। इसका पाउडर एक-एक चम्मच सुबह-शाम लिया जा सकता है। इसके एक्सट्रैक्ट के कैप्सूल भी बाजार में उपलब्ध हैं, जिन्हें सुबह-शाम एक-एक लिया जा सकता है।

बरगद की जटा- बरगद की जटामांसी व काले तिल को बराबर मात्रा में लेकर बारीक पीसकर सिर पर लगाएं। इसका पाउडर भी सुबह-शाम एक-एक चम्मच खाया जा सकता है। आधे घंटे बाद कंघी से बालों को साफ कर ऊपर से भांगरा व नारियल की गिरी को पीसकर लगाने से बाल घने और लंबे होते हैं। इसका पाउडर भी एक-एक चम्मच सुबह-शाम सेवन किया जा सकता है। जटामांसी के पाउडर से भी यही फायदा मिलता है।

मिश्रण तैयार कर लें

इनका उपयोग करने का श्रेष्ठ तरीका यह है- आंवला, अश्वगंधा, बरगद की जटा, ब्राह्मी और अमरबेल को साथ में लेकर पाउडर बनाकर रख लें। इस पाउडर को सुबह-शाम एक-एक चम्मच दूध के साथ लेने से बहुत लाभ होता है। आंवला, अमरबेल, बरगद की जटा, शिकाकाई, भृंगराज को पीसकर पानी मे मिलाकर बालों में पेस्ट की तरह लगा लें और फिर आधे घंटे बाद अपने बालों को धो लें।

चिकित्सक की सलाह लें

आप यह उपचार किसी आयुर्वेद चिकित्सक की देख-रेख में लें। जिन्हें सर्दी-जुकाम और सिरदर्द रहता है, वे बहुत देर तक पेस्ट को सिर में लगाकर न रखें और जल्दी धो लें।