• Fri. Oct 7th, 2022

कलवार कलाल कलार महासभा का राष्ट्रीय अधिवेशन संपन्न

ByRameshwar Lal

Aug 28, 2022

दिल्ली। अखिल भारतीय कलवार कलाल कलार महासभा का राष्ट्रीय अधिवेशन कश्मीरी गेट तिकोना पार्क दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर भाई पटेल अहमदाबाद की अध्यक्षता में एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद के मुख्य आतिथ्य में एवं सेवानिवृत्त पूर्व आईएएस संत हरिदास जयनारायण चौकसे कार्यकारिणी के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष हरीश चंद्र कलाल बांसवाड़ा राष्ट्रीय सचिव सत्यनारायण मेवाड़ा केकड़ी उपाध्यक्ष रमेश वालिया उपाध्यक्ष रविंद्र जायसवाल के विशिष्ट आतिथ्य मे संपन्न हुआ सर्वप्रथम भगवान बलभद्र एवं सहस्त्रबाहु अर्जुन की पूजा अर्चना आरती करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया कार्यकारिणी के राष्ट्रीय महासचिव किशोर भगत दिल्ली कोषाध्यक्ष मनीष राय भोपाल एवं राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने आगंतुक अतिथियों का माला एवं अपर्णा ओढ़ाकर सम्मान सत्कार किया तत्पश्चात लगभग 18 राज्यों से पधारे हुए पूरे भारतवर्ष से उपस्थित पदाधिकारियों एवं समाज बंधुओं ने समाज हित एवं उत्थान के लिए अपने अपने वक्तव्य प्रस्तुत किए कार्यक्रम में राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर लाल पटेल ने विभिन्न वर्गों में बैठे हुए सभी समाज बंधुओं को एक मंच पर एकत्रित होने का आह्वान किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व उप मुख्यमंत्री बिहार तार किशोर ने सफल आयोजन हेतु राष्ट्रीय कार्यकारिणी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहां की जब भी समाज को आवश्यकता पड़ेगी तो तन मन धन से वह समाज को सहयोग हेतु तत्पर रहेंगे एवं समाज उत्थान हेतु उन्होंने अपना ओजस्वी उद्बोधन प्रस्तुत किया मुख्य अतिथि पूर्व उपमुख्यमंत्री को राजस्थान के प्रतिनिधि मंडल एवं प्रदेश अध्यक्ष हरीश चंद्र कलाल के नेतृत्व में सहस्त्रबाहु अर्जुन की प्रतिमा भेंट करते हुए राजस्थान आने का निमंत्रण दिया कार्यक्रम में अतिथि के द्वारा महापुरुष विशेषांक पुस्तक का विमोचन किया एवं समाज के विभिन्न क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले नरेश पूर्बिया, भेरूलाल कलाल, डॉ उत्पल कलाल, राजेश मेवाड़ा, धीरज मालवीय का सम्मान किया गया। हरीश चंद्र कलाल बांसवाड़ा को स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए माला पहनाकर सम्मानित किया गया के पश्चात युवक युवती परिचय सम्मेलन में लगभग 80 युवक-युवतियों ने भाग लेते हुए अपना अपना परिचय मंच द्वारा दिया कार्यक्रम का संचालन महासचिव किशोर भगत के द्वारा किया गया।