• Fri. Oct 7th, 2022

हथियार की नोक पर केसरपुर में 19.50 लाख की लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश

ByRameshwar Lal

Aug 18, 2022

  • सात आरोपी गिरफ्तार, लूूट की राशि बरामद, हथियार जब्त
    अलवर। सूरत में कबाड़ का काम करने वाले भरतपुर कामां के हकमुद्दीन के साथ अलवर में बुधवार 17 अगस्त को हुई 19 लाख की लूट का पुलिस ने खुलासा करते हुए सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस ने बताया कि हकमुद्दीन के ही दूसरे साले जफरू के बेटे अल्ताफ ने लूट की साजिश रची थी। वारदात बुधवार को जयसमंद बांध के पास हुई थी।
    पुलिस ने बताया कि हकमुद्दीन जमीन की रजिस्ट्री के लिए रकम जुटाकर हारुन के घर पैसे रख रहा था तभी उसी घर में हारुन के भाई जफरू का बेटा अल्ताफ यह सब देख रहा था। उसके मन में लालच आ गया ओर घटना को अंजाम दिया।
    अलवर एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि मामला गम्भीर होने पर उनके निर्देशानुसार एएसपी अलवर ग्रामीण श्रीमन लाल मीना एवं अमित सिंह वृताधिकारी वृत्त ग्रामीण अलवर के निर्देशन अजीतसिंह थानाधिकारी पुलिस थाना सदर अलवर के नेतृत्व में ग्राम केसरपुर में हथियार की नोक पर 19.50 लाख रूपये की लूट का 24 घण्टे के अन्दर खुलासा करते हुए सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि प्रकरण में गठित पुलिस टीम ने अपराधियों को चिह्नित कर साईबर सैल की मदद से तीन अपराधियों जसविन्द्र उर्फ जस्सी पुत्र जरनेल सिंह निवासी ट्रांसपोर्ट नगर थाना एनईबी जिला अलवर, जसविन्द्र सिंह उर्फ सन्टी पुत्र सरबजीत सिंह निवासी मुलतान नगर दिवाकरी थाना एनईबी जिला अलवर, अजय पांचाल पुत्र रामकिशन निवासी ट्रांसपोर्ट नगर थाना एनईबी जिला अलवर को नोयडा यू0पी0 से गिरफ्तार कर उनके कब्जे से दो अवैध हथियार देशी कट्टे व लूट की गई 15,41,300/- रू0 नकद बरामद किये गये। उनसे सघनता से पूछने पर अपने दो अन्य साथी जो भिवाडी में छिपे होने की बात बतायी। जिस पर फूलबाग चौराहा पहुंच आरोपी बग्गड उर्फ मैक्स पुत्र बलविन्दर सिहं निवासी मुल्तान नगर थाना एनईबी जिला अलवर, दीपक उर्फ दीपू पुत्र कालूराम निवासी निवासी मुल्तान नगर थाना एनईबी जिला अलवर हाल लोहिया का तिबारा थाना एमआईए अलवर को दस्तयाब कर उनके कब्जे से एक देशी पिस्टल व लूट की राशी 4 लाख रूपये बरामद की।
    पूछताछ में आरोपियों ने उक्त व्यक्ति को लूटने के लिए हमें संदीप के द्वारा दी गई सूचना पर हमारे द्वारा हथियारो के बल पर लूट की योजना बनाई थी। संदीप उर्फ मिन्ना पुत्र आसुदा सिंह निवासी लिवारी थाना सदर जिला अलवर की संलिप्ता पाये जाने पर गिर तार किया गया। जिससे गहनता पूछताछ की गई जिसने बताया कि मुझे यह सूचना अल्ताफ के द्वारा दी गई थी, जिसने बताया कि मेरा एक रिश्तेदार जो कांमा जिला भरतपुर का रहने वाला है एक प्लाट खरीदने के लिए पिछले दो-तीन दिन से हमारे घर में रूका हुआ है, जिसके पास बडी मात्रा में रकम है, जो 17 अगस्त को उक्त रकम को लेकर मालाखेड़ा जायेगा। जब वह घर से निकलेगा तो मै आपको पूरी सूचना दे दूंगा। उसके बाद लूटी हुई राशी को आपस में बांट लेगें। जिसका अपराध का सूत्रधार अल्ताफ खान उर्फ पप्पल पुत्र जफरू खां निवासी लिवारी थाना सदर जिला अलवर को गिरफ्तार किया गया। उक्त गठित टीम द्वारा अथक व निरन्तर प्रयास कर बिना रूके लूटी गई राशि व मुलजिमानो को 12 घण्टे के अन्दर प्रकरण का खुलासा किया।
    पुलिस की इस टीम ने किया लूट के मामले का खुलासा: मामले का खुलासा गठित विशेष टीम में जहां अमित सिंह आरपीएस वृताधिकारी ग्रामीण जिला अलवर, जहीर अब्बास पुलिस निरीक्षक डी.एस.टी प्रभारी अलवर, अजीतसिंह थानाधिकारी सदर, मनोहरलाल एएसआई थाना सदर, मोहनलाल एएसआई थाना सदर, रूपचन्द एएसआई थाना सदर, सुरेन्द्र सिंह एएसआई थाना सदर, सुनील एचसी 47 थाना सदर, योगेश कुमार एचसी, सत्येन्द्र कुमार एचसी, सुन्दर सिंह एचसी, विजय कुमार कानि0, श्यामलाल, दिलीप कुमार, दिलीप कुमार कानि. 2081, मौ0शरीफ, भूपसिंह, राजकुमार, राहुल, सोनूसिंह, प्रदीप कुमार, पवन कुमार, जुनेद खान, रमेश, तीरथ सिंह, राजाराम, मुरारी, इरसाद खां, बृजेश, दीनमोह मद शामिल रहे। वहीं मामले का खुलासा करने के लिए जहां विशेष भूमिका सुनील हैड कानि 47 थाना सदर, श्यामलाल कानि 2665, दिलीप कुमार, दीन मोह मद कानि डीएसटी टीम अलवर की र ही। मामलेे का खुलासा किए जाने पर एसपी अलवर ने टीम के सभी अधिकारियों व पुलिसकर्मियोंं को बधाई दी व आगे भी बेहतर कार्य करने के लिए हौसला बढ़ाया।