• Fri. Oct 7th, 2022

समस्याओं का हो समुचित निस्तारण, योजनाओं का मिले लाभ :सिहाग

ByRameshwar Lal

Aug 22, 2022

जिला कलक्टर ने कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा- आवश्यक सेवाओं को रखें दुरुस्त

चूरू, 22 अगस्त। जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने कहा है कि अधिकारी इस तरह से संवेदनशीलता और निष्ठा के साथ काम करें कि लोगों की समस्याओं का समुचित निस्तारण हो तथा राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं का लाभ जरूरतमंद एवं पात्र लोगों तक पहुंचे।
जिला कलक्टर सोमवार को कलक्ट्रेट में आवश्यक सेवाओं, बीसूका, संपर्क पोर्टल, बजट घोषणा क्रियान्वयन और फ्लैगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन सहित विभिन्न विषयों को लेकर आयोजित बैठक में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि संपर्क पोर्टल सहित विभिन्न माध्यमों से प्राप्त होने वाली शिकायतों का त्वरित एवं संवेदनशील निस्तारण हो। साथ ही अपने-अपने विभाग से संबंधित योजनाओं पर काम कर यह देखें कि पात्र एवं जरूरतमंद व्यक्ति योजनाओं से वंचित नहीं रहे। उन्होंने नगर परिषद अधिशाषी अभियंता पूर्णिमा यादव से कहा कि वे शहर में पानी निकासी की व्यवस्था को ठीक से देखें। दीर्घकालिक उपायों के साथ-साथ तात्कालिक उपाय कर लोगों की समस्याओं का समाधान करें। उन्होंने डिस्कॉम एसई के के कस्वां से कहा कि लंबित कृषि कनेक्शन के लिए वांछित सामग्री एवं अन्य अतिरिक्त संसाधनों के लिए उच्च स्तर पर संपर्क कर प्रयास करें। जिला कलक्टर ने इस दौरान बीस सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी सूत्रों पर बेहतर काम करें और जिले की बेहतर स्थिति बनाए रखें। उन्होंने कहा कि बिजली, पानी, स्वास्थ्य सहित आवश्यक सेवाओं को दुरुस्त रखें।
एडीएम लोकेश गौतम ने संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि अधिकारी नियमित तौर पर लॉगिन करें और आमजन की समस्याओं का समाधान करें। दो माह से अधिक समय से लंबित प्रकरणों पर विशेष ध्यान दें और हल करें।
इस दौरान एडिशनल एसपी देवानंद, एसीएफ राकेश दुलार, एसीपी मनोज गर्वा, सामाजिक न्याय एवं सहकारिता विभाग के सहायक निदेशक अरविंद ओला, आरसीएचओ डॉ विश्वास मथुरिया, प्रोजेक्ट एसई राममूर्ति, आयुर्वेद उपनिदेशक अनिल मिश्रा, डिस्कॉम एसई केके कस्वां, डीएसओ सुरेंद्र महला, कृषि उपनिदेशक दीपक कपिला, सहकारिता विभाग के प्रबंध निदेशक मदनलाल, आईसीडीएस डीडी डॉ नरेंद्र शेखावत, सीडीईओ संतोष महर्षि सहित अधिकारीगण मौजूद थे।