• Tue. Sep 27th, 2022

रेलकर्मचारियों ने किया विरोध प्रदर्शन

ByKhushbu Jain

Jul 8, 2021

आल इण्डिया रेलवेमैन्स फैडरेशन (AIRF) एवं वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन (WCREU) के आव्हान पर आयुध कारखानों (डिफेंस आडिनेंस फेक्ट्रीज) में हड़ताल को खत्म करने के लिये भारत सरकार ने काला अध्यादेश (नौकरी से निकालने का) जारी किया है इस काले अध्यादेश के विरोध में दिनांक 08 जुलाई 2021 को राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया गया।वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन के कोषाध्यक्ष इरशाद खान ने बताया कि वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन कोटा मंडल की सभी शाखायें तुगलकाबाद, भरतपुर, बयाना, गंगापुरसिटी, सवाईमाधोपुर, शामगढ़, विक्रमगढ़ आलोट, बांरा, बूंदी तथा कोटा प्राॅपर द्वारा दिनांक 08 जुलाई 2021 को कोरोना एडवाईजरी तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुये विरोध प्रदर्शन का किया। कोटा प्राॅपर की सभी शाखाओं ने कोटा रेलवे स्टेशन के समक्ष विशाल प्रदर्शन का आयोजन किया। जिसको यूनियन के राजमल शर्मा, राजकुमार सरसिया, आई.डी.दुबे, अजय शर्मा ने संबोधित किया। यूनियन के कोषाध्यक्ष इरशाद खान ने संबोधित करते हुये कहा कि केन्द्र सरकार के आॅर्डिनेंस फेक्ट्री में काले अध्यादेश का कानून लागू किया है जिसमें हड़ताल को खत्म़ करने के लिये कर्मचारियों को नौकरी से निकालने जैसे अध्यादेश लागू किये है जो कि आॅल इण्डिया रेलवेमैन्स फैडरेशन हिन्द मजदूर सभा कभी भी बर्दास्त नहीं करेगी। काले अध्यादेश को समाप्त करने के लिये आज पूरे देश में राष्ट्रीय एकता दिवस का आयोजन किया गया।विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से मंडल संगठन सचिव जी.पी.सिंह, बी.एन.शर्मा, मनजीत सिंह बग्गा, दानिश खान, संजय चैहान, अरविन्द सिंह, अजय त्रिवेदी, गौरव कश्यप, श्रीमती ज्ञान दिक्षित, अल्पना शुक्ला, मंशा रोहिड़ा सहित सैंकड़ों की संख्या में रेलकर्मचारी उपस्थित थे।आम सभा का संचालन यूथ विंग के सचिव नरेश मालव ने किया।