• Fri. Oct 7th, 2022

मूसी महारानी की छतरी पर आयोजित हुआ सिम्फनी ऑफ भपंग

ByRameshwar Lal

Aug 27, 2022

ऐतिहासिक स्मारकों और लोक संगीतकला भपंग की लोकध्वनि से मंत्रमुग्ध हुए आमजन

अलवर। नगर विकास न्यास, पर्यटन विभाग एवं डेल्फिक काउंसिल ऑफ राजस्थान के संयुक्त तत्वाधान में जिला प्रशासन की ओर से जिले की ऐतिहासिक धरोहर मूसी महारानी की छतरी पर राजस्थानी लोक कला को समर्पित “सिम्फनी ऑफ़ भपंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें प्रसिद्ध लोक कलाकार यूसुफ खां मेवाती एवं ग्रुप द्वारा भपंग वादन लोक संगीत की मनोरम प्रस्तुत देकर उपस्थित जनसमूह को मंत्रमुग्ध किया गया ।
जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वल कर कहा कि भपंग वाद्य यंत्र मेवाती संगीत संस्कृति की धरोहर एवं राजस्थानी लोक संगीत की पहचान है। वर्तमान परिवेश में धरातल से लुप्त होती लोककला, लोक गीतों एवं लोक वाद्य यंत्रों जैसे की भपंग आदि की संस्कृति को जीवित रखने एवं नई पीढ़ी के लोगों को इनसे जोड़ने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन कर पर्यटन को प्रमोट करने की दिशा में यह एक छोटा सा कदम है। उन्होंने कहा कि डेल्फिक काउंसिल ऑफ राजस्थान निरंतर कला एवं संस्कृति से जुड़े विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है और प्रतिमाह एक ऑनलाइन एवं एक मंचीय कार्यक्रम इसके बैनर तले आयोजित किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि अलवर जिले को यहां की ऐतिहासिक, प्राकृतिक एवं सांस्कृतिक विरासत नायाब बनाती है। उन्होंने कहा कि लोक कलाकार युसूफ खान अन्तरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त भपंग वादक है इन्होंने देश के कई प्रतिष्ठित रंगमंचों पर अपनी प्रस्तुति दी है। युसूफ खां देश के अलावा विदेशों मे भी अपने भपंग का लौहा मनवा चुके हैं। जिला कलक्टर ने लोक कलाकारों के साथ आत्मीयता से मुलाकात की एवं नन्हे-मुन्ने नवोदित लोक कलाकारों की हौसला अफजाई की।
जयपुर से कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारे ख्यातिनाम अभिनेता राहुल सूद ने कहा कि लोक संस्कृति एवं लोककला को जीवित रखने में इस तरह के आयोजनों की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा इस आयोजन को कर जिले में पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि छूपी हुई प्रतिभाओं को सामने लाने में इस प्रकार के आयोजन कराए जाने चाहिए। पर्यटन विभाग की सहायक निदेशक टीना यादव ने आगन्तुकों का आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षाविद दिनेश शर्मा ने किया।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम, यूआईटी की सचिव डॉ. मंजू, यूआईटी के भूमि अवाप्ति अधिकारी सोहन सिंह नरूका, नगर परिषद आयुक्त धर्मपाल जाट, संग्रहालय अध्यक्ष प्रतिभा यादव सहित जिला स्तरीय अधिकारी एवं आमजन उपस्थित रहे।