• Tue. Sep 27th, 2022

टीम मैनेजमेंट ने इंग्लैंड सीरीज से पहले दो ओपनर भेजने की मांग की थी, अब तक नहीं हुआ कोई फैसला

ByRameshwar Lal

Jul 5, 2021

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद भारतीय टीम के ओपनर शुभमन गिल चोटिल हो गए। पैर की चोट के कारण गिल इंग्लैंड के खिलाफ 4 अगस्त से शुरू हो रही 5 टेस्ट मैचों की सीरीज से बाहर हो गए हैं। माना जा रहा है कि इसके बाद भारतीय टीम मैनेजमेंट ने BCCI को ई-मेल भेजकर दो अतिरिक्त ओपनर भेजने की मांग की थी, लेकिन अब खबर आ रही है कि चेतन शर्मा की अगुवाई वाली सिलेक्शन कमेटी इसके लिए तैयार नहीं है।

शॉ और पडिक्कल थे दावेदार
BCCI से जुड़े एक सीनियर अधिकारी ने नाम सार्वजनिक न करने की शर्त पर बताया कि भारतीय टीम मैनेजमेंट ने मेल में यह नहीं लिखा था कि उन्हें कौन से दो ओपनर चाहिए। यह कयास लगाए जा रहे हैं कि मैनेजमेंट पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल को टीम में शामिल करना चाह रहा है। ये दोनों खिलाड़ी अभी भारत की सीमित ओवर की टीम के साथ श्रीलंका में हैं। श्रीलंका में भारत को श्रीलंका के खिलाफ 3 वनडे और 3 टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है।

ईश्वरन के सिलेक्शन पर भी सवाल
चयन समिति के एक पूर्व सदस्य ने कहा कि भारत को पहले ही पृथ्वी शॉ को इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में शामिल किया जाना चाहिए था। यह बात समझ से परे है कि अभिमन्यु ईश्वरन को किस आधार पर स्टैंड बाय खिलाड़ी के तौर पर शामिल किया गया। उन्होंने कहा कि ईश्वरन का पिछला फर्स्ट क्लास सीजन अच्छा नहीं बीता था। साथ ही वे तकनीकी तौर पर भी टेस्ट क्रिकेट के लिए पूरी तरह तैयार नहीं दिखते हैं। पृथ्वी शॉ हर मायने में ईश्वरन से बेहतर खिलाड़ी हैं। यह ठीक है कि वे ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाए, लेकिन इसके बाद उन्होंने अच्छी वापसी की है।

गांगुली और जय शाह से बात कर सकता है मैनेजमेंट
BCCI के अधिकारी ने कहा कि चेतन शर्मा फिलहाल शॉ और पडिक्कल को इंग्लैंड भेजने के मूड में नहीं दिख रहे हैं। मुमकिन है कि भारतीय टीम मैनेजमेंट इस मुद्दे को लेकर बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और बोर्ड सचिव जय शाह से बात करे। जय शाह सिलेक्शन पैनल के कनवीनर भी हैं। अधिकारी ने कहा कि अभी तक शॉ और पडिक्कल की आधिकारिक मांग नहीं की गई है, लेकिन अगर टीम मैनेजमेंट का दबाव जारी रहा तो श्रीलंका के खिलाफ सीरीज खत्म होने के बाद दोनों को इंग्लैंड भेजा जा सकता है।

अपने फैसले को डिफेंड करने में लगे हैं चेतन शर्मा!
अगर सिलेक्शन कमेटी अब पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल को इंग्लैंड भेजती है तो ऐसे में चेतन शर्मा से सवाल किया जा सकता है कि उन्होंने आखिर ईश्वरन को बतौर स्टैंड बाय चुना ही क्यों था। माना जा रहा है चेतन शर्मा अपने इस फैसले का बचाव करने के लिए शॉ या पृथ्वी को इंग्लैंड नहीं भेजना चाह रहे हैं।