• Mon. Aug 8th, 2022

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने की हरसंभव तैयारी में जुट गई है केंद्र सरकार : कैलाश चौधरी

ByMahesh Bhobharia

Jul 9, 2021

मोदी सरकार 2.0 में फेरबदल के बाद पहली बार संसदीय क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे स्थानीय सांसद व केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी का भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत, केंद्रीय मंत्री चौधरी ने भाजपा कार्यकर्ता के घर शोकसभा सहित विभिन्न कार्यक्रमों में लिया हिस्सा

बालोतरा (बाड़मेर)

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी शुक्रवार को संसदीय क्षेत्र पहुंचे। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने सबसे पहले कल्याणपुर मण्डल के भाजपा महामंत्री बन्नाराम के पिताजी के स्वर्गवास होने पर उनके निवास स्थान कोरणा पर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की एवं शोक संतप्त परिवारजनों को सांत्वना दी। साथ ही उनकी स्मृति में पौधरोपण भी किया। इसके बाद कैलाश चौधरी ने महादेव मंदिर जास्ती में पूजा अर्चना की और मन्दिर परिसर में पौधरोपण किया। मोदी सरकार 2.0 में फेरबदल के बाद पहली बार संसदीय क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे कैलाश चौधरी का भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्वागत अभिनंदन किया। कोरोना काल और किसान आंदोलन के दौरान उनकी सक्रियता और संवेदनशीलता को देखते हुए उन्हें केंद्र सरकार में अपने पुराने कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री के पद पर बरकरार रखा गया है। कैलाश चौधरी ने इस भरोसे के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के शीर्ष नेतृत्व का आभार व्यक्त किया।

इस दौरान कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने खेती किसानी के हित में लिए गए केंद्र सरकार के नए फैसलों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कृषि उपज मंडी समितियां (एपीएमसी) अब बाजार क्षमता के विस्तार और किसानों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिये एक लाख करोड़ रुपये के कृषि बुनियादी ढांचा कोष से वित्तीय सुविधाएं लेने के लिये पात्र होंगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस निर्णय से एपीएमसी और मजबूत होंगी। कैलाश चौधरी ने आगे कहा कि हमारी कोशिश है, कि किसान समृद्ध हो, खेती आगे बढ़े, मुनाफे की खेती हो, किसान महँगी फसलों की ओर आकर्षित हो और किसान को सरकार की ओर से अधिकाधिक सुविधाएँ दी जा सकें, कृषि सुधार कानून भी इसी दिशा में भारत सरकार का एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने बताया कि एपीएमसी समाप्त नहीं होगी, यह और सशक्त हो और किसानों के लिए उपयोगी हो, यह मोदी सरकार की प्रतिबद्धता है।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है केंद्र सरकार : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर की चुनौतियों से सीख लेते हुए केंद्र सरकार तीसरी लहर से निपटने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए कैबिनेट ने 23 हजार करोड़ रुपये के नए पैकेज को मंजूरी है। इनमें से 15 हजार करोड़ रुपये केंद्र और 8,123 करोड़ रुपये राज्य सरकारें मुहैया कराएंगी। कैलाश चौधरी ने कहा कि इसके तहत जिला स्तर पर आक्सीजन व जरूरी दवाइयों की आपूर्ति और स्टोरेज से लेकर पर्याप्त संख्या में बिस्तरों की संख्या की बढ़ाने का प्रविधान किया गया है। यही नहीं, तीसरी लहर में बच्चों के अधिक संख्या में प्रभावित होने की आशंका को देखते हुए सभी जिलों में बच्चों के विशेष वार्ड के निर्माण के साथ ही ऐसे हाईब्रिड आइसीयू बेड का निर्माण भी किया जाएगा, जिनका इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर बच्चे और बड़े दोनों कर सकेंगे।

error: Content is protected !!