• Fri. Oct 7th, 2022

ग्रामीणों और छात्र छात्राओं ने जड़ा स्कूल पर ताला, आश्वासन मिलने के बाद खोला।

ByRameshwar Lal

Aug 26, 2022

भीलवाड़ा/ शहर के उपनगर सांगानेर से लगभग सात किमी दूर सालरा स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय विद्यार्थी 105 और शिक्षक महज एक तीन साल से यही हालात आज आक्रोशित ग्रामीणों ने स्कूल पर ताला जड़ दिया और बच्चे के साथ सड़क पर धरने पर बैठ गए। आखिरकार शिक्षा विभाग ने कार्य व्यवस्थार्थ दो शिक्षकों की नियुक्ति की। तब जाकर ग्रामीणों ने धरना खत्म कर स्कूल का ताला खोला। ग्रामीणों का कहना है कि तीन साल से स्कूल में शिक्षकों की नियुक्ति करने को लेकर वे ज्ञापन देते आ रहे हैं, पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही, आज शाला विकास एवं प्रबंधन समिति के सदस्यों ने सुबह स्कूल खुलने के समय ताला जड़ दिया। बच्चे भी सड़क पर आकर बैठ गए। ग्रामीणों ने नारेबाजी करते हुए धरना शुरू कर दिया। इसकी सूचना मिलने पर इस दौरान सांगानेर पुलिस चौकी से भी जाब्ता पहुंचा। नोडल ऑफिसर सेठ मनोहर सिंह मेहता राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सांगानेर के कार्यवाहक प्रिंसीपल योगेश शर्मा सालरा पहुंचे। उन्होंने आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की। ग्रामीणों का कहना था कि स्कूल में 105 बच्चे पढ़ते हैं। इन्हें पढ़ाने के लिए महज एक शिक्षक लगा रखा है। उसकी बीएलओ में भी ड्यूटी है। परिवार में काम होने पर छुट्टी भी लेता है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। जब तक सालरा स्कूल में शिक्षक नहीं लगाए जाते, वे ताला नहीं खोलेंगे। इसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय प्रारंभिक बंशीलाल कीर भी पहुंचे। उन्होंने भी शिक्षक लगाने का आश्वासन दिया तो ग्रामीणों ने साफ कह दिया कि जब तक शिक्षक लगाने के आदेश नहीं आ जाते, वे धरने से नहीं उठेंगे। स्कूल पर ताला जड़ा रहेगा।

डीईओ के आदेश देख माने ग्रामीण

पूर्व पार्षद राजू जांगिड़ ने बताया कि इसके बाद डीईओ कीर अपने ऑफिस पहुंचे। उन्होंने दो शिक्षकों राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय अमरपुरा के शिवराज बैरवा तथा माकड़िया के बालकिशन बैरवा को सालरा में अस्थायी तौर पर कार्य व्यवस्थार्थ लगाने के आदेश जारी किए। वे 27 अगस्त से 24 सितंबर तक सालरा स्कूल में ड्यूटी देंगे। डीईओ ने इस आदेश की कॉपी सांगानेर स्कूल प्रिंसीपल योगेश शर्मा को मोबाइल पर व्हाट्सएप पर भेजी। शर्मा ने ग्रामीणों को यह कॉपी दिखाई, जब जाकर आक्रोशित ग्रामीण शांत हुए। धरना खत्म किया और स्कूल का ताला खुला