• Fri. Aug 12th, 2022

पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस की बढ़ती कीमतों व महंगाई के विरोध में 08 जुलाई को संयुक्त किसान मोर्चा का विरोध-प्रदर्शन

ByKhushbu Jain

Jul 6, 2021

हाईवे पर सड़क किनारे वाहन खड़े कर, खाली गैस सिलेंडर रखकर,ढ़ोल व हॉर्न बजाकर 02 घण्टे तक जताएंगे मोदी सरकार के खिलाफ़ विरोध*सीकर। पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस की बढ़ती महंगाई के विरोध में गुरूवार, 08 जुलाई को सीकर जिले में भी अनेक स्थानों पर मोदी सरकार के खिलाफ़ विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा / यह विरोध-प्रदर्शन संयुक्त किसान मोर्चा,भारत के देशव्यापी आह्वान के तहत किया जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चा,सीकर के प्रवक्ता बी. एल. मील ने बताया कि मोर्चा से सम्बद्ध सभी प्रमुख किसान-मजदूर संगठनों, पूर्व सैनिकों, ट्रेड- यूनियनों, खेत मजदूर यूनियन, भवन निर्माण मजदूर यूनियन, नौजवान सभा, छात्र संगठन एसएफआई, मेडिकल रिप्रजेंटेटिव यूनियन, ऑटो-रिक्शा, सिटी-बस व ट्रान्सपोर्ट यूनियनों, सामाजिक, व्यापारिक संगठनों, कर्मचारियों, लेखकों-कवियों,कामगारों, पेंशनरों, हाथ-ठेला यूनियन आदि के प्रमुख पदाधिकारी और सक्रिय कार्यकर्ता, किसान व आम जन द्वारा जिले में जगह जगह यह विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। सीकर जिले में स्थित सभी नेशनल व स्टेट हाईवे’ज ( राष्ट्रीय व राज्य राजमार्गों ), ग्रामीण मार्गों और मुख्य तिराहों-चौराहों व सर्किलों सहित जिले के सभी 11 टोल-फ्री किसान मोर्चों पर यह विरोध प्रदर्शन एक साथ व एक ही समय पर किया जाएगा। उक्त सभी संगठनों के पदाधिकारी, कार्यकर्ता, किसान-मजदूर व आमजन गुरूवार, 08 जुलाई को अपने-अपने नजदीकी प्रदर्शन स्थल तक रैली निकालकर प्रात: 10 बजे निर्धारित स्थान पर पहुंचेंगे। जहां सड़क किनारे पंक्तिबद्ध अपने अपने दो-पहिया, चार पहिया सहित सभी प्रकार के वाहनों को खड़ा करते हुए, वाहनों के इंजन बन्द करके, नारेबाजी व सभा करते हुए प्रात: 10 से दोपहर 12 बजे तक विरोध-प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद महंगाई की अनदेखी कर रही मोदी सरकार की नींद उड़ाने व आंखें खोलने के लिए 12:00 से 12:08 बजे तक 08 मिनट लगातार होर्न व ढ़ोल बजाएंगे। 08 जुलाई को प्रात: 10 से 12 बजे तक गृहिणियां (महिलाएं) भी अपने नजदीकी स्थानों पर रसोई गैस का खाली सिलेंडर रखकर रसोई गैस के दामों में की गई व की जा रही बढ़ोतरी व खाद्य वस्तुओं की बढ़ाई जा रही महँगाई के लिए दोषी मोदी सरकार के खिलाफ़ विरोध प्रदर्शन करेंगी। इस दौरान लाऊड स्पीकरों से गाने बजाकर, लोकगीत-पैरोडियां गाकर, कविताओं व किस्से-कहानियों आदि विधाओं के माध्यम से मोदी सरकार व महंगाई के दुष्परिणामों को उजागर किया जाएगा। जिले में इस विरोध-प्रदर्शन के वृहद-स्तर पर सफलता पूर्वक आयोजन, प्रचार-प्रसार, कार्यक्रम की रूपरेखा व आवश्यक तैयारियों के सम्बन्ध में संयुक्त किसान मोर्चा, सीकर के संयोजक चाचा पूर्णमल सुण्डा और पूर्व प्रधान उस्मान खाँ की अध्यक्षता में सोमवार को वर्चुअल और टेलीफोनिक माध्यम से एक आवश्यक मीटिंग आयोजित की गई। जिसमें सम्बन्धित संगठनों के अध्यक्षों व सचिवों को 08 जुलाई को सफल आयोजन को लेकर आवश्यक तैयारियों के निर्देश व जिम्मेदारियां दी गई। मीटिंग में संयुक्त किसान मोर्चा,सीकर के जिला संयोजक चाचा पूर्णमल सुण्डा व पूर्व प्रधान उस्मान खाँ, प्रवक्ता बी. एल. मील, अखिल भारतीय किसान सभा के सागर खाचरिया, किशन पारीक, सीकर तहसील अध्यक्ष कामरेड हरि सिंह गढ़वाल, बलवीर सिंह चौधरी, एसएफआई के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष जाखड़, जय किसान आंदोलन के कैलाश यादव, सीटू के भगवान सिंह बगड़िया, सोहन भामू, सांवरमल यादव, सत्यजीत भींचर, पूर्व सैनिक राजपाल सिंह झाझड़िया, भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के राष्ट्रीय सचिव झाबर सिंह घोसलिया, प्रदेश उपाध्यक्ष सदर मोहम्मद कासिम खिलजी,प्रदेश महासचिव अशोक मील, सीकर जिला अध्यक्ष दिनेश सिंह जाखड़, कार्यवाहक जिला अध्यक्ष सुरेश मील, महासचिव जसबीर सिंह चौधरी, संगठन सचिव नरेन्द्र धायल, कार्यालय सचिव मोहम्मद शकील खत्री, सक्रिय सदस्य नारायण सिंह बुरड़क, भागीरथ नायक, धर्मेंद्र ख्यालिया, कपिल कुमावत, जाट महासभा के अध्यक्ष रतन सिंह पिलानिया, प्रवक्ता भंवर लाल बिजारणिया, ऑटो-रिक्शा यूनियन के दिलीप मिश्रा, सिटी बस यूनियन के जगदीश फौजी, आदि अनेक पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल हुए।

error: Content is protected !!