• Tue. Aug 9th, 2022

राज्य सरकार के ढाई वर्ष के शासन की विफलताओं को लेकर

ByKhushbu Jain

Jul 11, 2021

राज्य सरकार के ढाई वर्ष के शासन की विफलताओं को लेकर जिलाध्यक्ष व सांसद हुए पत्रकारों से मुखातिबराज्य सरकार प्रबंधन पर ध्यान दें ना कि षडयंत्रों पर – इंद्रा चौधरीराज्य सरकार केवल राजनीति करती है काम नहीं – सांसद सुमेधानंद सीकर, 8 जुलाई। भाजपा सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती, जिलाध्यक्ष इंद्रा चौधरी व किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष हरिराम रणवां राज्य सरकार के ढ़ाई वर्ष के असफल कार्यकाल को लेकर पत्रकारों से मुखातिब हुए। पत्रकारों से बातचीत में भाजपा जिलाध्यक्ष ने इंद्रा चौधरी ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य की कांग्रेस सरकार को प्रबंधन पर ध्यान देना चाहिए ना कि षडयंत्रों पर कुचक्रो में लगातार उलझना चाहिए। राज्य सरकार का ढाई वर्ष का शासन कुप्रबंधन और अकर्मण्यता भरा रहा है। कोरोना की द्वितीय वेव से निपटने में राज्य सरकार पूरी तरह से असफल रही है और दोषारोपण निरंतर केंद्र सरकार पर किया गया। उन्होंने कहा कि 21 मार्च को राज्य में कफ्र्यू की घोषणा हुई और 23 मार्च को 23 हजार रेमडेसिवर को डोज पंजाब को भेजी। वेंटिलेटर खरीद में घोटाला हुआ, वेंटिलेटर किराये पर दिये गये। ऑक्सीजन प्लांट के लिए जिले के सबसे बड़े अस्पताल में स्थापित करने के लिए केंद्र सरकार ने पैसा भेजा, डीआरडीओ ने मशीने भी भेज दी, जनरेटर की कमी होने पर सांसद स्वामी सुमेधानंद ने 21 लाख रूपये दे दिये लेकिन सरकार ने अभी तक इसके लिए टेंडर तक जारी नहीं किये। कहा कि इसके पीछे राज्य सरकार की मंशा यह है कि केंद्र सरकार द्वारा लगाये गये ऑक्सीजन प्लांट पहले शुरू नहीं हो और राज्य सरकार का प्लांट पहले शुरू हो। कहा कि तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की जा रही है ऐसे में राज्य सरकार की लापरवाही आमजन पर भारी पड़ सकती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं पर हो रहे अत्याचार में राज्य एक नंबर पर आ गया है, साईबर क्राईम, दलित पर अत्याचार सहित राज्य की जनता पूरी तरह से त्रस्त हो चुकी है। मुख्यमंत्री गहलोत जो स्वयं क्वारेंटाइन है उन्हें किसी योग्य व्यक्ति को गृह मंत्रालय सौंपकर अत्याचारों व अपराध पर रोक लगानी चाहिए। कहा कि राष्ट्रवादी संगठन को बदनाम करने के लिए राजनीतिक षडयंत्रों में उलझे हुए हैं उससे बाज आना चाहिए। जल जीवन मिशन में केंद्र सरकार से राज्य को मिले १० हजार करोड़ रूपये आमजन के लिए खर्च करने चाहिए। सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर केवल राजनीति करने का आरोप लगाया। कहा कि सैनिक अकादमी के लिए केंद्र से मिले पैसों को अभी तक काम में नहीं लिया गया, जिला खेल स्टेडियम के लिए मिले चार करोड़ रूपये के बजट में से दो करोड़ रूपये तो राज्य सरकार के पास आ भी गया लेकिन अभी तक सरकार ने टेंडर तक नहीं किये हैं। एसके अस्पताल में केंद्र सरकार की ओर से बने ऑक्सीजन प्लांट के लिए वे सांसद कोटे से अब तक 71 लाख रूपये दे चुके हैं, लेकिन शुरू नहीं किया जा रहा है। जनरेटर के लिए पैसा देने के बाद भी अभी तक टेंडर तक नहीं किया गया है। कहा कि मुख्यमंत्री का काम केवल केंद्र में मोदी सरकार की आलोचना करना ही रह गया है, काम तो इनसे होता नहीं है। प्रबंधन में फैल राज्य सरकार पूरी तरह से बौखला चुकी है। उन्होंने कहा कि जिले में पंचायत चुनाव कई चरणों में करवाने के सिवाय राज्य के पास कोई काम नहीं बचा है। कांग्रेस पार्टी में चल रही खींचतान का खामियाजा राज्य की जनता हो उठाना पड़ रहा है। अपराध बढ़ रहे हैं, व्यवस्थाएं लडख़ड़ा रही है। आमजन परेशान हो रहा है। किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष हरिराम रणवां ने कहा कि राज्य में अपराध, महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं, एक ही प्रकार के अपराधों की पुनरावर्ती हो रही है यह शर्मनाक है। नाकाम सरकार ढाई वर्ष से कोमा है मुख्यमंत्री घर में क्वारेंटाइन हो रहे है। राज्य में गृह मंत्री नहीं होने से अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है। कहा कि पिछले ढ़ाई वर्ष में गांवों में विकास की एक ईंट तक नहीं रखी गई है। कहा कि जिस नींव को लेकर राज्य की कांग्रेस सरकार बनी थी वह हर मोर्च पर विफल हो रही है। बेरोजगारों को भत्ता नहीं दिया जा रहा है, संविदकर्मियों को भत्ता नहीं दिया जा रहा है, किसानों को कर्जा माफी नहीं दी जा रही है। इस दौरान जिला महामंत्री भंवरलाल वर्मा, मीडिया प्रभारी जितेंद्र माथुर, प्रवक्ता ओमप्रकाश बिजारणिया भी मौजूद रहे।

error: Content is protected !!