• Mon. Aug 8th, 2022

डिस्कॉम के एईएन पर भ्रष्टाचार के आरोप पर लामबद्ध हुए डिस्कॉम के कर्मचारी, मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को दिया ज्ञापन

ByKhushbu Jain

Jun 30, 2021

रतनगढ़-जोधपुर डिस्कॉम के दर्जनों कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के नाम मंगलवार को ज्ञापन देकर असामाजिक तत्वों द्वारा रुपए लेने के झूठे आरोप लगाने व राजकार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई करने की मांग की है। तहसीलदार धीरज झाझड़िया को दिए ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि बाबूलाल प्रजापत द्वारा चार किलोवाट सिंगल फेस के घरेलू कनेक्शन के लिए आवेदन किया था। विभाग के जेईएन द्वारा मौका मुआयना किया गया, तो उक्त जमीन कृषि भूमि पाई गई और यहां पर पूर्व से एक कृषि कनेक्शन भी चल रहा है। निगम नियमानुसार उक्त भूमि पर बिजली कनेक्शन स्वयं वित्त पोषित योजना के तहत जारी कर सकता है, जिसकी अनुमानित लागत करीब 86 हजार 545 रुपए हैं। लेकिन बाबूलाल द्वारा सामान्य योजना के तहत पांच हजार 900 रुपए जमा करवाकर कनेक्शन लेना चाहता है, जिसके लिए उसे नोटिस भी दिया जा चुका है। नोटिस देने के बाद उक्त व्यक्ति के द्वारा व्यक्तिगत दुश्मनी निकालने के लिए झूठे भ्रष्टाचार के केस में फंसाने की धमकी दी। जबकि बाबूलाल के घर व पेट्रोप पंप पर विभाग के सतर्कता जांच दल ने बिजली चोरी करते हुए भी पकड़ा था, तब से लेकर बाबूलाल व उसका भाई हनुमान प्रजापत द्वारा अधिकारियों को झूठे केस में फंसाने की धमकियां दी जा रही है। ज्ञापन में मांग की है कि इन आरोपों की निष्पक्ष जांच करवाकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इस मौके पर जोधपुर डिस्कॉम के एईएन आरके मीणा, जेईएन उज्जवल मीणा, राजस्व अधिकारी रविंद्र मीणा, जगदीश स्वामी, हितेष हारित, विनोद कुमार, हंसराज तंवर, मोती मेघवाल, संजीव कुमार, आनंद, किशनलाल, विकास कुमार, सद्दाम हुसैन, सुरेश कुमार, विनोद कुमार, संदीप शर्मा, ओमप्रकाश जाट, रामावतार स्वामी, जगदीश माली सहित कई कर्मचारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!