• Mon. Aug 8th, 2022

एडवोकेट बलदेवसिंह खण्डेला प्रान्त उपाध्यक्ष भारतीय किसान संघ राजस्थान

ByKhushbu Jain

Jul 1, 2021

*प्रेस विज्ञप्ति* *राजस्थान सरकार किसान विरोधी बनती जा रही है-बलदेवसिंह खण्डेला* आज दिनांक 1 जुलाई 2021 को भारतीय किसान संघ द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर उपखंड अधिकारी खण्डेला को ज्ञापन सौपा गया। भारतीय किसान संघ के प्रान्त उपाध्यक्ष एडवोकेट बलदेवसिंह खण्डेला ने बताया कि कोरोना काल मे किसान बहुत सी समस्याओं के कारण परेशान हो रहा है और राजस्थान सरकार आँखे बंद करके बैठी हुई है।एडवोकेट बलदेवसिंह खण्डेला ने बताया कि एक तरफ से तो किसान वर्षा के कारण परेशान हो रहा है,कोरोना महामारी ने किसान की कमर तोड़ दी है और सरकार को कोई चिंता नही है,किसानों के सभी राजस्व कार्य पटवारी हड़ताल के कारण अटके हुए है और सरकार की तरफ से कोई वैकल्पिक व्यवस्था नही है जिससे किसानों को फसली ऋण,सरकारी योजनाओं आदि से वंचित हो रहा है, वही विधुत बिलो में अत्यधिक व्रद्धि करके किसानों की कमर तोड़ी जा रही है ओर थ्री फेस बिजली भी नही दी जा रही है,भारतीय किसान संघ मांग करता है कि किसानों हेतु 6-7 घण्टे बिजली आपूर्ति करना सुनिश्चित करे। मीटर विद्युत विभाग का होता है जिस की गुणवत्ता नहीं होती और वह बहुत जल्दी ही जल जाता है,खराब हो जाता है। विद्युत विभाग द्वारा मीटर बदलने के पूर्व में ₹600 लिए जाते थे लेकिन उसको बढ़ाकर सरकार ने 2500 कर दिए गए जो भी किसानों पर बहुत बड़ा बोझ का काम कर रहा है। वही मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत प्लेटरेट कृषि कनेक्शन वाले किसानों को अनुदान से वंचित रखा गया है जिनको भी अनुदान दिया जाना आवश्यक है। विद्युत विभाग द्वारा विधुत ट्रांसफर समय पर नहीं बदलने की एक समस्या है जिसको बदलने के लिए AEN ऑफिस को सरकार द्वारा समय पर जले हुए ट्रांसफर को बदलने के लिए उसको लाने ले जाने के लिए प्रतिबंधित करें। साथ समर्थन मूल्य पर खरीद में अधिकारी और व्यापारियों की सांठगांठ से किसानों के साथ विश्वासघात हो रहा है ऐसे अनेक स्थानों पर व्यापारी किसानों के नाम से समर्थन मूल्य पर माल तुलवा रहे हैं, सवाई माधोपुर की घटना इसका ताजा उदाहरण है ।इसको रोकने के लिए भी सरकार को सख्त कदम उठाए जाने चाहिए

error: Content is protected !!